Indian Railway main logo Welcome to Indian Railways View Content in Hindi RDSO Logo
   
View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

वर्टिकल्स

निविदाएं

प्रदायक इंटरफ़ेस

विनिर्देश/आरेखण

हमसे संपर्क करें



Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
ट्रैक मशीन और निगरानी

ट्रैक मशीन और निगरानी विभाग के बारे में:

  • नई रेलपथ निगरानी प्रणाली का विकास सहित उनका खरीद कमिशनिगं और भारतीय रेलवे में समावेशन।
  • फील्ड अधिकारियों द्वारा प्रत्यक्ष उपयोग हेतु विभिन्न प्रकार की रिपोर्ट तैयार करने के लिए टी.एम.एस.में आवश्यक संशाोधन कराना।
  • टीआरसी परिणामों के आधार पर ट्रैक अनुरक्षण के लिए मानदण्ड स्थापित करना।
  • टीआरसी की सहायता से भारतीय रेलवे के ट्रैक की पैरामीटरों तथा राइडिंग क्वालिटी का मॉनीटरिंग करना। वर्तमान में टी.आर.सी.डेडिकेटेड फ्राइट कॉरिडोर के ट्रैक की भी मॉनीटरिंग कर रहा है जब तक कि उनके द्वारा स्वयं का टीआरसी उपलब्ध नहीं हो जाता है।
  • विभिन्न प्रकार की ऑन-ट्रैक मशीनों के विनिर्देशों का विकास/संशाोधन /परिशोधन सहित विभिन्न प्रकार की गति प्रमाण पत्र जारी करना, दोलन परिक्षण कराना तथा रेल सुरक्षा आयुक्त/रेलवे बोर्ड की मंजूरी के साथ भारतीय रेलवे में समावेशन कराना है।
  • ऑन ट्रैक मशीनों से संबंधित सभी तकनीकी मामलों जैसे रखरखाव अनुसूची, महत्वपूर्ण स्पेयर पार्टस सूची , निरीक्षण चेकलिस्ट एवं तकनीकी निर्देश/विनिर्देशो, ट्रैक मशीन मैनुअल आदि का निपटारा करना। 
  • ऑन ट्रैक मशीनों के विभिन्न पार्टस का भारतीयकरण करना।
  • छोटी ट्रैक मशीनों से संबंधित नीतिगत मामले तथा तकनीकी मुद्दों पर कार्य करना।
  • नए प्रकार की छोटी ट्रैक मशीनों का विकास तथा उनके विनिर्देशों का विकास/संशाोधन/परिशोधन करना तथा उन छोटी ट्रैक मशीनों के वेंडर विकसित करना।
  • ट्रैक अभिकल्पन तथा क्यू.ए./सिविल से संबंधित विभिन्न प्रकार के परीक्षण ट्रैक लैब तथा फील्ड में कराना।
  • विभिन्न प्रकार के दोलन परीक्षण हेतु टेस्ट स्ट्रेच का प्रावधान कराना तथा उन टेस्ट स्ट्रेचों का विकास एवं अनुरक्षण कराना।
  • रोलिगं स्टॉक परीक्षण के लिए यू.आई.सी./518/ई.एन-14363 पद्वति के समावेशन हेतु भारतीय रेलवे के स्थिति अनुसार विभिन्न ट्रैक पैरामीटरों की लिमिट निर्धारण हेतु परीक्षण निदेशालय के साथ मिलकर कार्य करना।
  • डेडिकेटेड टेस्ट ट्रैक का अभिकल्प करना तथा उत्तर-पश्चिम रेलवे में बन रहे डेडिकेटिड टेस्ट ट्रैक के लिए अ.अ.मा.सं. के समन्वयक निदेशालय के रूप में कार्य करना।  

संगठन चार्ट:

 

पिछले एक साल के दौरान उपलब्धियां:

  • दो नये एकीकृत ट्रैक ज्यामितीय मापन प्रणाली तथा एक ट्रैक ज्यामितीय मापन प्रणाली की कमिशनिंग पूर्ण।
  • वर्ष 2023-2024 में 2,82,754 कि.मी. रेलपथ का अभिलेखन एवं विश्लेषण संपन्न।
  • रेलपथ मशीन के तकनीकी विश्ष्टिताओं को अंतिम रूप दिया गया।
  • रख-रखाव अनुसूची मैनुअल,निरीक्षण जाँच सूची,क्रिटिकल स्पेयर पार्टस जारी किये गये।
  • विभिन्न प्रकार के गति प्रमाण पत्र जारी किये गये।
  • ट्रैक मशीनों के परिवहन कोड जारी किये गये।
  • ट्रैक मशीनों के स्पेयर पार्ट्स का स्वदेशीकरण किया गया।
  • ट्रैक मशीन स्पेयर पार्टस की ड्राइगं जारी किया गया।
  • ट्रैक मशीन स्पेयर पार्टस की विश्ष्टिताओं को अंतिम रूप दिया गया ।
  • लघु ट्रैक मशीन के वेंडर आवेदनों को अंतिम रूप दिया गया।

 

टीएमएम के अंतर्गत वर्तमान असाइनमेंटस:

  • एकीकृत रेलपथ ज्यामिति मापन प्रणाली का भारतीय रेलवे में समावेशन एवं स्थापना।
  • भारतीय रेलवे परमानेंट वे मैन्युअल  में निर्धारित आवृति के अनुसार भारतीय रेलवे ट्रैक का अभिलेखन एवं विश्लेषण।
  • ट्रैक मॉनिटरिंग तंत्रो के तकनीकी विनिर्देशों को तैयार करना तथा समीक्षा करना।
  • ट्रैक मशीनों के तकनीकी विनिर्देशों को तैयार करना तथा समीक्षा करना।
  • अनुरक्षण अनुसूची विनिर्देशों, महत्वपूर्ण स्पेयर पार्ट्स सूची और ट्रैक मशीनों की निरीक्षण चेकलिस्ट जारी करना- 35 नग।
  • विभिन्न ट्रैक मशीनों हेतु गति प्रमाणपत्र जारी करना- 19 नग।
  • ट्रैक मशीनों के स्पेयर पार्ट्स के विष्टिताओ और ड्राइंग को अंतिम रूप प्रदान करना- 21 नग।
  • ट्रैक मशीनों के परिवहन कोड जारी किया जाना- 10 नग।
  • क्राइटेरिया कमिटी रिपोर्ट के अनुसार रोलिंग स्टॉक के दोलन परीक्षण हेतु सेक्शन प्रदान करना- 09 नग।
  • उत्तर मध्य रेलवे के खजुराहो -महोबा खंड पर आयोजित होने वाली ट्रैक मशीनों का दोलन परीक्षण करना- 09 नग।
  • छोटी ट्रैक मशीनों हेतु वेंडर आवेदन संख्या को अंतिम स्वरूप प्रदान करना।
  • छोटी रेलपथ मशीनों के एस टी आर को अंतिम रूप देना। 
  • छोटी ट्रैक मशीनों के विनिर्देशों का संशोधन। 
  • ट्रैक मशीनों की एक नियमित मद को संतुलित करने के लिए विक्रेताओं की संख्या कम से कम तीन करना।
  • एक नया विनिर्देश रेल फ्रिक्शन मीटर नए मानक के अनुरूप तैयार करना है।
  • पूर्व तटीय रेलवे में रेल स्ट्रेस मापन के लिए 22.82 टन/22.9 टन हेतु 100 किलोमीटर प्रति घंटा एवं 25 टन हेतु 90 किमी प्रति घंटा में स्थल परीक्षण कराना।

 



Source : आरडीएसओ में आपका स्वागत है CMS Team Last Reviewed on: 23-04-2024  

  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.