Indian Railway main logo Welcome to Indian Railways View Content in Hindi RDSO Logo
   
View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

वर्टिकल्स

निविदाएं

प्रदायक इंटरफ़ेस

विनिर्देश/आरेखण

हमसे संपर्क करें



Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
भू - तकनीकी इंजीनियरिंग

निदेशालय परिचय:

अ.अ.मा.स का भूतकनीकी निदेशालय, भारतीय रेलवे के भूतकनीकी इंजिनियरिंग से सम्बंधित मामले देखता है। इसमें सभी पारंपरिक और नवीनतम आधुनिक मिट्टी परिक्षण सुविधाओं से सुज्जित प्रयोगषाला है। मुख्य गतिविधियाों में भारतीय रेलवे को भूतकनीकी इंजिनियरिंग से संबंधित मामलों पर सलाह देना, रेलवे के मृदा कार्य हेतु-मार्गदर्षिका/ नियमावली/ विषिष्टिया तैयार करना और अघतन करना, रेलपथ मिट्टी और सुरंग,नये रेलततप के निर्माण कार्यों के मृदाकार्य की गुणवत्ता का परीक्षण करना, क्षेत्रीय रेलवे  को विषेष भूतकनीकी मामलों में परामर्ष सेवाए देना, रेलअधिकारियों/ पर्यवेक्षकों को भूतकनीकी इंजिनियरी से संबंधित प्रषिक्षण प्रदान करना, भूतकनीकी इंजिनियरिग के क्षेत्र में नई उत्पादन तकनीकों को अपनाना।

संगठनात्मक चार्ट:

पिछले एक वर्ष और चालू वर्ष के दौरान निदेशालय की संक्षिप्त उपलब्धि :

  •  बीआईएस पहचान के साथ ट्रैक गिट्टी के लिए श्राष्ट्रीय मानकश् के रूप में विशिष्टता का विकास
  • भारतीय रेलवे में ढलान संरक्षण के लिए कॉयर जियो.टेक्सटाइल के उपयोग के लिए दिशानिर्देश
  • नरम मिट्टी और भूमि सुधार के तरीकों पर दिशानिर्देश
  • मिट्टी की कीलीकरण पर दिशानिर्देश
  • रेलवे में कटिंग के लिए दिशानिर्देशों का पुनरावलोकनए क्रमांक GE:G-2
  • क्षेत्र की समस्याओं का समाधान.परामर्श/रिपोर्ट 
    i. रामपुर.रुद्रपुर खंडए एनईआर में जियोसिंथेटिक्स का उपयोग करके पीलीभीत.शजंहापुर गेज परिवर्तित ट्रैक और फॉर्मेशन पुनर्वास में यातायात की गति को सामान्य करना
    ii. हुबली डिवीजनए एसडब्ल्यूआर के घाट खंड में कटिंग संबंधी समस्याएं
    iii. दक्षिण पश्चिम रेलवे के बेंगलुरु डिवीजनए बेंगलुरु.हासन खंड में सोलूर.थिप्पसंद्रा स्टेशनों के बीच हाई बैंक का निपटान
    iv. किमी 44ध्14 से किमी 46ध्0 राजसुनखला ;आरएसकेएद्ध . बोलगढ़ टाउन ;बीओआरटीद्ध खंड खंडए खुर्दा . बलांगीर नई लाइनए खुर्दा रोड डिवीजनए ईसीओआर में रेलवे संरचना का निपटान
    v. पश्चिम रेलवे के रतलाम.गोधरा खंड के स्टेशनों अमरगढ़ और पंच पिपलिया के बीच तल्प ;फारमेशनद्ध का धसना
    vi. दक्षिण पूर्व रेलवे के खड़गपुर.भद्रक खंड के बालासोर.हल्दीपाड़ा स्टेशनों के बीच तल्प ;फारमेशनद्ध का पुनर्स्थापन
    vii. पूर्व मध्य रेलवे के बरौनी.कटिहार खंडए सोनपुर मंडल के बेगुसराय और नौगछिया स्टेशनों के बीच अस्थिर संरचना का पुनर्स्थापन 
    viii.ईस्ट कोस्ट रेलवे के वाल्टेयर डिवीजन के कोथावालसा.किरुंदुल खंड ;केके लाइनद्ध पर मनाबर.जराती स्टेशनों के बीच किमी 202/23.31 पर भूस्खलन

वर्तमान परियोजनाएं:

  • भारतीय रेलवे के लिए माल ढुलाई (100 किमी प्रति घंटे तक) और यात्री यातायात (160/200 किमी प्रति घंटे परिचालन गति तक) के लिए 25 टन एक्सल लोड के लिए ब्रिज ट्रांजिशन सिस्टम के उपयुक्त डिजाइन का विकासए आईआईटी/दिल्लीके साथ मिलकर
  • इंडियन स्टील एसोसिएशन के साथ रेलवे ट्रैक में ब्लैंकेट सामग्री के रूप में स्टील स्लैग के उपयोग के लिए कार्यप्रणाली और विशिष्टताओं का विकास
  • भारतीय रेलवे पर सुरंग में वेंटिलेशन के प्रावधान पर दिशानिर्देश
  • गुणवत्ता नियंत्रण के लिए रेलवे इंजीनियरों के लिए भू.तकनीकी परीक्षण पर पुस्तिका की समीक्षा (जीई:जी-3, दिसंबर 2004)
  • क्षेत्रीय रेलवे में भू.तकनीकी इंजीनियरिंग संगठन के लिए दिशानिर्देशों की समीक्षा ;आरडीएसओ/2007/जीईर:जी-0011, जनवरी 2008)
    कमजोर संरचना के पुनर्स्थापन के लिए दिशानिर्देशों की समीक्षा (जीईर:जी-6, जून 2005)

 

 

 



Source : आरडीएसओ में आपका स्वागत है CMS Team Last Reviewed on: 24-04-2024  

  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.